Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana – (કિસાન સહાય) ऑनलाइन आवेदन & पंजीकरण स्टेटस

गुजरात की राज्य सरकार ने मुख्मंत्री किसान सहाय योजना नाम की एक योजना की शुरूआत की गई है। राज्य के किसानों को वित्तीय सहायता को DVR के माध्यम से देने के लिए यह योजना अगस्त, 2020 को शुरू की गई थी।

फसल बीमा किसानों को उनके कृषि में आसानी से मदद तथा प्रोत्साहित भी करेगा और इसके लिए किसानों को योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा कराना होगा। राज्य के कुछ किसान कुछ वर्षों से गंभीर वित्तीय संकट का सामना कर रहे हैं।

इन्ही किसानों का मनोबल बढ़ाने तथा आत्मनिर्भर बनाने के लिए इस योजना को लागू किया गया है इस योजना का उद्देश्य किसानों में बढ़ रही मानसिक विकृतियों को दूर करना तथा उन्हें एक संबल या सकारात्मक मनोबल प्रदान करने की कोशिश सरकार इस योजना के माध्यम से कर रही हैं।

કિસાન સહાય – Gujarat Kisan Sahay Yojana

  • इस योजना का नाम मुख्यमंत्री किसान सहायक योजना है इसको अगस्त 2020 में लांच किया गया है इस योजना को लांच करने वाला राज्य गुजरात है यह योजना गुजरात के मुख्यमंत्री द्वारा लांच की गई है इस योजना में गुजरात राज्य के किसान को लाभ प्राप्त होगा।
  • उद्देश्य खरीफ सीजन के दौरान किसानों को वित्तीय सहायता और बीमा पॉलिसी से सिंचाई में अनियमित वर्षा होती है।
  • प्राप्त होने वाले लाभ का स्वरूप वित्तीय माध्यम होगा अर्थात सरकार किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए कुछ रुपए DBT के माध्यम से उनके खाते में सीधे जमा कराए जाएंगे।
  • यह आवेदन ऑनलाइन माध्यमों से जमा कराए जाएंगे इस योजना के संबंध में इससे संबंधित पोर्टल के जल्द ही लांच होने की संभावना है

Kisan Sahay Yojana Highlights

योजना गुजरात मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना
शिलान्यास की गई मुख्यमंत्री विजय रुपानी जी
लॉन्च डेट 10 अगस्त 2020
योजना के लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानो को आर्थिक मदत देना

मुख्मंत्री किसान सहाय योजना सुविधाएँ

  • वित्तीय सहायता की राशि लाभार्थियों को प्रति हेक्टेयर 25,000 रुपये मिलेंगे।
  • लाभान्वित लोग सर्वेक्षण के अनुसार, इस योजना की मदद से लगभग 56 लाख किसानो के लाभान्वित होने की संभावना व्यक्त की जा रही है।
  • यह किसी भी प्रकार का कोई प्रीमियम बीमा नहीं है योजना के नियम के अनुसार, बीमा सुविधा का लाभ उठाने के लिए किसी लाभार्थी को कवरेज प्राप्त करने के लिए किसी भी प्रकार का कोई भी वित्तीय प्रीमियम नहीं देना होता है।
  • नुकसान पर वित्तीय सहायता की प्राप्ति लाभार्थी किसान को खेती के नुकसान के 60% पर वित्तीय सहायता की प्राप्ति होगी।
  • फंड पर मुआवजा इस योजना के माध्यम से किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा जैसे बाढ़ सूखा आदि के बाद सहायता प्रदान करने के लिए राज्य के आपदा प्रतिक्रिया कोष में पैसो को संग्रहित किया जाएगा।
  • असामान्य मानसून में सहायता यदि असामान्य मानसून में लगातार 28 दिनों तक बारिश नहीं होती है तो योजना लाभार्थियों को सहायता प्रदान की जाएगी।
  • आवश्यकता से अधिक अर्थात भारी वर्षा में सहायता यह योजना उन किसानों को सहायता प्रदान करेगी, जिन्हें आवश्यकता से अधिक मानसून में 48 घंटे तक भारी वर्षा का सामना करना पड़ा था।
  • अनियमित मानसून/वर्षा में सहायता नियमानुसार, यदि राज्य में 15 अक्टूबर से 15 नवंबर तक अनियमित या बहुत ही कम वर्षा होती है, तो किसान सरकार से लाभ पाने के लिये सक्षम होंगे।

पात्रता मापदंड

  • राज्य के निवासी योजना का लाभ पाने के लिए राज्य के निवासी अर्थात राज्य का निवास प्रमाण पत्र जरूरत होती है।
  • आवेदक का मान्यता प्राप्त किसान होना इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए किसान के पास वन अधिकार अधिनियम के तहत 8-ए धारक किसान खाता कहो ना अनिवार्य है।

आवश्यक दस्तावेज़

  • आवासीय प्रमाणआवेदन के समय आपको सक्षम अधिकारी गणों को को आवासीय प्रमाण देने की आवश्यकता होती है
  • पहचान प्रमाण आवेदन प्राप्त करने के लिए आपको पहचान प्रमाण देने की आवश्यकता होगी।
  • किसानों के खाते की जानकारी मान्यता प्राप्त किसानों को प्राधिकरण को 8-ए खाता दस्तावेज जमा करना आवश्यक है।
  • बैंक खाता पैसा सीधे बैंक खाते में स्थानांतरित किया जाएगा, इसलिए किसान आवेदक को खाता विवरण प्रदान करना होगा।

मुख्मंत्री किसान सहाय योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

यह योजना अभी हाल ही में लांच की गई है, इसलिए अभी तक इससे संबंधित कोई वेब पोर्टल को लॉन्च नहीं किया जा सका है। इसके बावजूद आप नीचे दिए गए उपायों के माध्यम से इस योजना के लिए आवेदन जमा करा सकते हैं आइए आवेदन जमा करने की प्रक्रियाओं के बारे में जाने

  • इस योजना के लिए आवेदन करने के लिए आपको उपर्युक्त सभी दस्तावेजों के साथ ईग्राम केंद्र पर जाना होगा।
  • सभी आवेदन फिर सत्यापन के लिए संबंधित विभागों में भेजे जाते हैं
  • सत्यापन के बाद, पात्र लाभार्थी आवेदकों को अनुमोदित या सूचित किया जाएगा।
  • आधिकारिक मंजूरी के बाद, किसान सीधे अपने बैंक खातों में पैसा डीबीटी के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

किसान सहाय योजना लाभार्थी सूची

यह अनुमान लगाया जा सकता है कि गुजरात के किसानों की मदद करने के लिए यह योजना उनके लिए एक बचत का माध्यम सिद्ध होगा| राज्य के मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि यह योजना आगामी खरीफ सीजन में लागू की जाएगी। गुजरात का राजस्व विभाग जल्द ही आवेदन की प्रक्रिया को तेज करने के लिए एक पोर्टल को भी लॉन्च की कार्य कर रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि इस योजना की मदद से किसानों की बहुत सारी समस्याओं का समाधान एक साथ किया जा सकेगा।

  • प्रारंभ में, संबंधित प्राधिकरण उन गांवों / तालुकों की एक सूची तैयार करेगा, जिन्होंने प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल क्षति और क्षति का सामना किया है, जिसमें असमान वर्षा, सूखा, बाढ़ आदि शामिल हैं।
  • विभाग 7 दिनों के भीतर राजस्व विभाग के साथ सूची साझा करेगा।
  • अगले चरण में, 15 दिनों के भीतर एक विशेष सर्वेक्षण टीम फसलों के नुकसान की समीक्षा करेगी।
  • क्षति सर्वेक्षण पूरा होने के बाद, लाभार्थी किसानों की सूची जिला विकास अधिकारी द्वारा हस्ताक्षरित आदेश द्वारा घोषित की जाएगी।
  • लाभार्थी सूची दो प्रकार की होगी, 33% से 60% और 60% से अधिक की होगी।
  • दोनों श्रेणियों को प्रदान की जाने वाली सहायता राशि 20,000 और 25,000 / – रुपये होगी।
Share

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *