MP E Uparjan 2021| किसान ऑनलाइन पंजीयन @mpeuparjan.nic.in

हर वर्ष किसानों को बेहतर सुविधा प्रदान करने हेतु एवं उनको सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से मध्य प्रदेश सरकार विभिन्न प्रकार की योजना एवं सेवाओं को शुरू करती है। इन सभी सेवाओं के मदद से किसानों की आय में वृद्धि आती है एवं उनकी उपज का सही दाम प्राप्त होता है। हाल ही में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा एक ऑनलाइन पोर्टल को शुरू किया है जिसका नाम एमपी ई उपार्जन पोर्टल है। इस पोर्टल पर किसान खुद को पंजीकृत कर के समर्थन मूल्य पर अपनी फसल आसानी से भेज सकते हैं।

इस लेख के माध्यम से आज हम आपको एमपी ई उपार्जन पोर्टल से संबंधित पंजीकरण प्रक्रिया की जानकारी देंगे एवं साथ ही उपार्जन पोर्टल की अन्य जानकारी प्रदान करेंगे जैसे कि 164 100 196 118 mpeuparjan wpms2021 frm rabi farmerdetails aspx, mp e uparjan kharif 2021-22, kisan code, ravi, moong, ऑनलाइन लॉगइन से संबंधित जानकारी कैसे लें।

एमपी ई उपार्जन पोर्टल 2021

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा ई उपार्जन पोर्टल को शुरू किया गया है। इस पोर्टल की मदद से वे सभी किसान जोकि खरीफ सीजन के दौरान समर्थन मूल्य पर अपनी फसल सरकार को बेचना चाहते हैं वह इस पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करके इस सेवा का लाभ उठा सकते हैं। वे सभी इच्छुक के साथ जो कि सरकार द्वारा तय की गई समर्थन मूल्य पर अपनी फसल बेहतर चाहते हैं उन्हें इस पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करना होगा।

एमपी ई उपार्जन कवरेज प्लान (gehu ka panjiyan kaise kare)

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा इस पोर्टल के माध्यम से प्रदेश के सभी किसानों को इस सेवा का लाभ प्रदान किया जाएगा। इसके लिए सरकार द्वारा प्रदेश के हर जिले में गेहूं अनाज एवं ध्यान से संबंधित फसलों का मॉनिटरिंग किया गया है। मॉनिटरिंग के माध्यम से यह सुनिश्चित किया गया है कि खरीफ प्रणाली में 78 रनर 2830 खरीद केंद्र एवं 2830 डाटा एंट्री ऑपरेटर हैं। तथा यह भी जाना गया है कि 12834 किसान अपनी गेहूं की फसल प्रतिदिन बेच पाते हैं। इस मॉनिटरिंग के माध्यम से यह भी जाना गया है कि धान की खेती की प्रणाली में 795 खरीद केंद्र 795 डाटा एंट्री ऑपरेटर तथा 4250 किसान प्रतिदिन अपनी फसल बेचने आते हैं।

एमपी ई उपार्जन 2021 का उद्देश्य

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक लेवल कृषि मंडी में जो भी ऑनलाइन प्रक्रिया की गई थी उसकी वजह से किसानों को कई प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था एवं कुछ किसान पंजीकरण प्रक्रिया पूरी नहीं कर पाए थे जिसकी वजह से वह सामान्य मूल्य से कम दाम पर अपनी फसल बेचने पर मजबूर हो गए थे। इसके कारण वासियों ने कई प्रकार के नुकसान का सामना करना पड़ा था। किसानों कि इसी समस्या से निजात दिलाने के लिए सरकार ने उपार्जन पोर्टल में पंजीकरण प्रक्रिया को शुरू कर दिया गया है। इस वर्ष राज्य के किसान उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा करके अपनी फसल को सामान्य मूल्य पर भेज सकते हैं।

ई उपार्जन पोर्टल का लाभ

  • इस पोर्टल की मदद से राज्य के किसान घर बैठे ही अपने कंप्यूटर या मोबाइल के माध्यम से ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा कर सकते हैं।
  • योजना का लाभ राज्य के सभी किसान उठा पाएंगे।
  • राज्य के किसान मोबाइल ऐप के माध्यम से भी इस सेवा का लाभ आसानी से ले पाएंगे।
  • उपार्जन पोर्टल की मदद से किसान को पंजीकरण करने में किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना होगा।
  • इस पोर्टल की मदद से किसानों के समय एवं पैसे दोनों की बचत होगी।
  • किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसल बेचने हेतु तारीख को के बारे में भी जानकारी दी जाएगी जिससे कि वह अनाज लेकर खरीद केंद्रों पर जा सके।

ई उपार्जन पंजीयन 2021-22 मूंग 2021 के दिशा निर्देश

  • यदि आप ई उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण करना चाहते हैं तो आपको निम्नलिखित दिशा निर्देशों का पालन करना होगा।
  • किसानों के पास आधार कार्ड एवं समग्र आईडी है तो वह इसके माध्यम से आसानी से पंजीकरण कर सकते हैं।
  • यदि आपके पास समग्र आईडी उपलब्ध नहीं है तो आप ही उपार्जन पोर्टल पर पंजीकरण नहीं कर पाएंगे तो इसके लिए आपको सबसे पहले समग्र आईडी के लिए आवेदन करना होगा।
  • किसान द्वारा ऑनलाइन पंजीकरण करते समय बैंक खाते के विवरण की जानकारी भी प्रदान करनी होगी।
  • पंजीकरण के लिए आपके पास मोबाइल नंबर होना आवश्यक है।
  • यदि आपका मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक है तब ही आप इस पोर्टल पर पंजीकरण कर पाएंगे।
  • पंजीकरण प्रक्रिया को पूरा होने के बाद आपको एक रसीद प्राप्त होगी जिसे आप को संभाल कर रखना होगा।
  • खरीद के समय आपको वह है पावती पर्ची ले जाना आवश्यक है।

एमपी ई उपार्जन 2021 के आवश्यक दस्तावेज

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • ऋण पुस्तिका
  • बैंक खाते का विवरण
  • आधार कार्ड
  • समग्र आईडी
  • निवास प्रमाण पत्र

mpscsc e uparjan किसान पंजीयन देखना है

  • सबसे पहले आपको खरीद केंद्र पर संपर्क करना होगा।
  • खरीद केंद्र के माध्यम से आपको अपना पंजीकरण करवाना होगा।
  • पंजीकरण पूर्ण होने के बाद आपको एक रजिस्ट्रेशन कोड दिया जाएगा।
  • इसके बाद आपको गेहूं की खरीद की तिथि की जानकारी प्रदान की जाएगी जो कि s.m.s. के माध्यम से भेजी जाएगी।
  • किसान को एसएमएस के माध्यम से प्रदान की गई तिथि पर जाना होगा।
  • किसान से गेहूं की खरीद की जाएगी एवं किसान को एक प्रमाण के तौर पर रसीद प्रदान की जाएगी।
  • इसके बाद किसान के खाते में गेहूं खरीद की राशि प्रदान कर दी जाएगी।

एमपी ई उपार्जन ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया

यदि आप एमपी ई उपार्जन पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीयन करना चाहते हैं तो नीचे दी गई प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

  1. सर्वप्रथम एमपी ई उपार्जन पोर्टल के आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  2. होम पेज पर रवि 2021 2022 के विकल्प पर क्लिक करें।
  3. अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  4. अब आपको किसान पंजीयन एवं आवेदन सर्च के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  5. अब आपके सामने एक फॉर्म खुल जाएगा जिसमें आपसे जानकारी पूछ जाएगी जैसे कि आपका किसान कोड, मोबाइल नंबर, समग्र आईडी, आदि संबंधित जानकारी।
  6. सभी जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करें।
  7. अब सबमिट के बटन पर क्लिक करें।
  8. यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद आप सफलता पूर्वक इस समग्र पोर्टल पर पंजीकृत हो जाएंगे।

mp e uparjan portal आवेदन स्थिति कैसे चेक करें

  • सर्वप्रथम ई उपार्जन पोर्टल की अधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • वेबसाइट के होम पेज पर खरीद 2020-2021 के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा।
  • अब आपको फॉर्मर रजिस्टर एवं एप्लीकेशन सर्च के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद नए पेज पर एप्लीकेशन नंबर दर्ज करें।
  • अब सर्च के बटन पर क्लिक करके आवेदन की स्थिति की जानकारी प्राप्त करें।

e uparjan 2020-21 पंजीयन केंद्र लॉगिन कैसे करें

  • सर्वप्रथम एमपी ई उपार्जन पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज पर अभी 2021 2022 के विकल्प पर क्लिक करें।
  • पंजीयन केंद्र के लिंक पर क्लिक करें।
  • नए पेज पर आपके सामने एक फॉर्म खुल जाएगा।
  • फॉर्म में कुछ भी जानकारी जैसे कि आपका जिला, पंजीयन केंद्र का नाम, ऑपरेटर तथा ओटीपी, कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • अब लोग इनके बटन पर क्लिक करें।

mp e uparjan mobile app – ई-उपार्जन मोबाइल एप

  • सर्वप्रथम अपने स्मार्टफोन में गूगल प्ले स्टोर खोलें।
  • प्ले स्टोर में एमपी ई उपार्जन सर्च करें।
  • अब ई उपार्जन ऐप पर क्लिक करें।
  • अब डाउनलोड के बटन पर क्लिक करें।
  • इंस्टॉलेशन कंप्लीट होने के बाद ऐप को खोलें।
  • अब अपना समग्र आईडी या मोबाइल नंबर दर्ज करें।

mp e uparjan rabi 2021 22 पावती पर्ची

  • सर्वप्रथम इस पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • होम पेज पर खरीफ 2021 2022 के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपको किसान पंजीयन आवेदन के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • आपको पावती पर्ची प्राप्त करे के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया फॉर्म खुल जाएगा जिसमें आपको सभी जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • जानकारी दर्ज करने के बाद सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने आपके पावती पर्ची स्क्रीन पर दिख जाएगी।
  • डाउनलोड के बटन पर क्लिक करके पावती पर्ची को डाउनलोड करें।

Share

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *