हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना 2021

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए मेघा प्रोत्साहन योजना की शुरुआत की गई है जो राज्य के गरीब वर्ग के विद्यार्थियों को सरकारी परीक्षा की तैयारी के लिए कोचिंग संस्थान मे शिक्षा ग्रहण करने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। जैसा कि हम सब जानते ही हैं की सरकारी प्रतियोगिताओं के लिए बहुत से विद्यार्थी तैयारी करते हैं एवं इसके लिए वह महंगी कोचिंग संस्थानों में दाखिला भी लेते हैं पर कुछ विद्यार्थी कोचिंग में दाखिला लेने में असमर्थ होते हैं। बहुत से छात्र छात्राओं जोकि आर्थिक रूप से कमजोर हैं वह महंगी कोचिंग की फीस नहीं भर पाते एवं इसके परिणाम स्वरुप वह सरकारी परीक्षा का हिस्सा नहीं बन पाते। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा मेघा प्रोत्साहन योजना को शुरू किया गया है जिसके मुताबिक सरकार द्वारा कोचिंग मे शिक्षा प्रदान करने के लिए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों को ₹100000 तक की आर्थिक मदद प्रदान करेगी।

यह योजना खास तौर से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, आईआरडीपी, बीपीएल (SC , ST ,OBC , IRDP , BPL category ) जैसे वर्गों के लिए लागू की गई है जिसकी मदद से है कोचिंग पर आयोजन के हेतु दाखिला लेकर सरकारी परीक्षाएं एवं प्रतियोगिताओं का हिस्सा बन सकते है। इस योजना का लाभ गरीब वर्क से संबंध रखने वाले छात्र-छात्राओं को प्रदान किया जाएगा जिसके मुताबिक उनको कोचिंग के दाखिले के लिए ₹100000 तक की राशि प्रदान करे जाएगी।

यह योजना छात्र-छात्राओं के विकास एवं उनके मनोबल बढ़ाने के लिए बहुत कारगर साबित होगी। आज के इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको मेधा प्रोत्साहन योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे जैसे कि मैं प्रोत्साहन योजना क्या है एवं इसकी पात्रता लाभ योजना के नियम संस्थानों के चैन से संबंधित जानकारी प्रदान करें जाएगी। इसलिए निवेदन करते हैं कि इस पोस्ट को अंत तक पड़े जिसके मदद से आप इस योजना से संबंधित सभी जानकारी को आसानी से प्राप्त कर पाए|

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana

Himachal Pradesh Medha Protsahan Yojana 2021

योजना का नाम हिमाचल प्रदेश मेधा प्रोत्साहन योजना
इनके द्वारा शुरू की गयी हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा
लाभार्थी राज्य के विधार्थी
उद्देश्य कोचिंग प्रदान करना

हिमाचल प्रदेश मेघा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत सभी छात्र छात्राएं जो 12वीं कक्षा में शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं या यूपीएससी एवं एसएससी जैसी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं उनको सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता प्रदान करी जाएगी। वे सभी छात्र छात्राएं जो की कोचिंग की महंगी फीस दे पाने में असमर्थ हैं एवं कोचिंग में दाखिला लेना चाहते हैं वह इस योजना का आवेदन करके सरकार द्वारा प्रदान की गई वित्तीय मदद के जरिए सरकारी परीक्षा की तैयारी कर सकते हैं एवं कोचिंग में दाखिला ले सकते हैं। जैसा कि आप जानते हैं कि यदि हम सरकारी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं तो कोचिंग लगवाना आज के समय में बहुत ही आवश्यक है लेकिन कुछ गरीब तबके के छात्र-छात्राएं कोचिंग नहीं ले पाते हैं जिसकी वजह से वह सरकारी नौकरी ले पाने में असमर्थ होते हैं। इस समस्या को दूर करने के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य के गरीब छात्र-छात्राओं के लिए ही इस योजना को शुरू किया है जोकि प्रदेश के छात्र छात्राओं को वित्तीय मदद प्रदान करेगी जिससे है उच्च कोचिंग में दाखिला ले सके एवं शिक्षा ग्रहण कर सकें। यह योजना छात्र छात्राओं को प्रोत्साहन प्रदान करेगी एवं इसकी मदद से सरकारी प्रतियोगिताओं का हिस्सा बनकर रोजगार प्राप्त कर सकते हैं।

सरकारी प्रतियोगिता जैसे एनआईआईटी, आईआईटी, जेईई, एएमसी जैसी बहुत ही कठिन परीक्षा में हिस्सा लेने के लिए छात्र-छात्राओं की वित्तीय सहायता करी जाएगी। ऐसी योजना के तहत इंटरमीडिएट पर 350 विद्यार्थी तथा सनातन स्तर पर छात्र छात्राओं को इस योजना के अंतर्गत लाभ प्रदान किया जाएगा जो कि उनकी मेरिट के आधार पर होगा। के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश उच्च शिक्षा विभाग द्वारा योजना को सुचारू रूप से नियंत्रित किया जाएगा एवं इससे राज्य के गरीब तबके के विद्यार्थियों को लाभ प्रदान करवाया जाएगा|

मेधा प्रोत्साहन योजना के नियम

  • जैसे ही हम जानते ही है की कोरोना वायरस के कारण सरकार ने इस योजना के लिए कई प्रकार के संशऊधन करे है जिसकी वजह से वे सभी छात्र छात्र जो की अनलाइन कोचिंग लेना चाहते है तो अनलाइन माध्यम का चयन करके इस योजना के तहत कर सकते है|
  • इस योजना के अंतर्गत सभी लाभार्थी छात्र छात्रा कोचिंग संस्थान के तहत अनलाइन एवं ऑफलाइन के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों को आर्थिक सहायता दी जाएगी|
  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा सिर्फ उन विधयार्थियों को योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा जिसकी परिवार की वराशिक ये डेड लाख से काम है|
  • मेधा प्रोत्साहन योजना के नियम।
  • इस योजना के अंतर्गत हिमाचल प्रदेश छात्र छात्राओं को सरकारी परीक्षाओं की तैयारियों के लिए आर्थिक मदद प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत 12वीं कक्षा एवं कॉलेज में शिक्षा प्राप्त कर रहे करीब 500 छात्र-छात्राओं को सरकार द्वारा ₹100000 की आर्थिक मदद प्रधान करी जाएगी जिस से वह अपने कोचिंग से संबंधित सभी खर्च उठा पाएंगे।
  • इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा प्राप्त कर सकते हैं परंतु इसके लिए उन्हें कोचिंग सेंटर के पैनल में शामिल होना अनिवार्य है|

संस्थान का चयन कैसे करें?

  • योजना के अंतर्गत राज्य सरकार ने कोचिंग संस्थानों के मूल रूप से चयन के लिए कुछ देशों का ऐलान किया है जिसके मुताबिक यदि कोचिंग संस्थान मैं आवश्यक संख्या में शिक्षक नहीं होते तो वह कोचिंग संस्थान इस योजना का पात्र नहीं होगा।
  • इस योजना के तहत वे सभी कोचिंग संस्थान जोकि योजना के अंतर्गत छात्रों का प्रवेश करवाने में सक्षम है एवं सरकारी परीक्षाओं के लिए कोचिंग प्रदान कर सकते हैं कौन कोचिंग संस्थानों को इस योजना के अंतर्गत प्राथमिकता दी जाएगी।
  • यदि किसी कोचिंग संस्थान का सफलता दर अधिक है एवं संस्थान का सत्र 3 साल से कम भी है तब भी उस कोचिंग संस्थान को योजना के अंतर्गत पात्र माना जाएगा।
  • योजना के तहत कोचिंग सभी शिक्षकों को न्यूनतम 3 वर्ष का अनुभव होना आवश्यक है। योजना के अंतर्गत का आधारभूत ढांचा नियमित रूप सभी प्रकार की शिक्षा से संबंधित क्रिया परिसर पुस्तकालय आदि होने आवश्यक है तभी उस कोचिंग संस्थान को इस योजना के अंतर्गत पात्र माना जाएगा।

योजना का उद्देश्य

  • योजना के तहत छात्र-छात्राएं करना चाहते हैं परंतु अपनी आर्थिक समस्या के कारण शिक्षा प्राप्त कर पाने में असमर्थ हैं उनको सरकार की तरफ से ₹100000 तक का वित्तीय राशि प्रदान की जाएगी जो कि उनके कोचिंग शिक्षा में इस्तेमाल होगी।
  • इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य गरीब परिवार के सभी छात्र छात्राओं को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में प्रोत्साहन प्रदान करना है एवं इससे उनको रोजगार प्रदान करना है।
  • इस योजना के तहत सभी छात्र छात्राओं को कोचिंग में दाखिला दिलवाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी जो कि उनको प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवाने में एक अहम भूमिका निभाएगी।
  • योजना के तहत हिमाचल प्रदेश के गरीब परिवार के छात्र छात्राओं को प्रतियोगिता की तैयारी के लिए एवं कोचिंग संस्थान की फीस किताबें आंधी के खर्चों के लिए यह राशि प्रदान करवाई जाएगी।

HP Medha Protsahan Scheme 2021 के दस्तावेज़ 

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

medha protsahan yojana 2021 application form

Medha Protsahan Yojana Apply Online : यदि आप हिमाचल प्रदेश राज्य के निवासी है एवं मेघा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा नीचे दी गई प्रक्रिया को ध्यानपूर्वक पढ़ें जिसकी मदद से आप ऑनलाइन इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको हिमाचल प्रदेश के शिक्षा विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपको मेधा प्रोत्साहन योजना के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • जैसी आप पर क्लिक करेंगे तो आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा जिसको आप को डाउनलोड करना पड़ेगा।
  • इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म में पूछी भी सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम पता पैन कार्ड एवं मोबाइल नंबर आदि से संबंधित जानकारी सही ढंग से दर्ज करनी होगी।
  • फॉर्म भरने के बाद उसको जरूरी दस्तावेजों के संग अटैच करके आपको अपने क्षेत्र के शिक्षा विभाग हिमाचल प्रदेश के कार्यालय में जाना होगा एवं इस फॉर्म को जमा करना होगा।
  • यदि आप चाहें तो हमारे द्वारा प्रदान की गई जीमेल आईडी पर मेल करके भी आप अपना फॉर्म जमा कर सकते हैं।
  • इस योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदेश के उच्च शिक्षा विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है।
Share

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *