Gobardhan Yojana 2021 – गोबर-धन योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

गोबर धन योजना 2018 में तब के वित्त मंत्री श्री अरुण जेटली द्वारा 1 फरवरी को पहली बार शुरू की गई थी। इस योजना को केंद्र सरकार की सहायता से पूरे देश भर में सुचारू रूप से चलाया जा रहा है। योजना के तहत देश के किसानों से गोबर एवं फसल अवशेषों को सरकार द्वारा किसानों से उचित दाम पर खरीद के उससे खाद एवं अन्य उपयोगिता क्रियाओं के लिए इस्तेमाल किया जाएगा। योजना के अंतर्गत पशुओं का गोबर अथवा खेतों में रह गए उपस्थित पदार्थ जैसे कि पत्ते भूसे इत्यादि को बायोगैस एवं बायो सीएनजी गैस में परिवर्तित किया जाएगा एवं उसको इस्तेमाल में लाया जाएगा। इस योजना की सहायता से किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करे जाएगी एवं इसकी मदद से गोबर एवं पशु मल को महत्वपूर्ण उपयोग में लाया जाएगा। आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको गोबर धन योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करेंगे जैसे गोबर धन योजना क्या है उसके पात्रता दस्तावेज आवेदन प्रक्रिया आदित्य संबंधित जानकारी हमारे द्वारा आपको प्रदान की जाएगी तो निवेदन करेंगे इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े जिसकी मदद से आप को इस योजना के संबंध में जानकारी प्राप्त हो सके|

Gobardhan yojana in hindi

gobardhan scheme guidelines: गोवर्धन योजना को गेलवेनाइजिंग ऑर्गेनिक बायो एग्रो रिसोर्सेज धन योजना के नाम से भी जाना जाता है। इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा देश के प्रत्येक जिले में से एक गांव चुना जाएगा एवं जिले में एक क्लस्टर का निर्माण करवाया जाएगा जिसकी मदद से लगभग 700 क्लस्टर स्थापित किए जाएंगे। गोवर्धन योजना 2021 की मदद से देश के किसान एवं उनके परिवार को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता प्रदान करी जाएगी। साथ ही इस योजना के माध्यम से गांव को स्वच्छ बनाने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार मिलकर एवं 40% का अनुपात फंड उपलब्ध करवाएंगे जिसकी मदद से देश के जो भी किसान इस योजना का हिस्सा बनना चाहते हैं एवं सरकार द्वारा प्रदान की जा रही है का उपयोग करना चाहते हैं वह इस योजना का ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए उनको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। नीचे द्वारा इस योजना से संबंधित जानकारी प्रदान की गई है।

GOBAR- Dhan Yojana 2021 New update

Key Highlights Of GOBAR- Dhan Yojana 2021

योजना का नाम गोबर धन योजना
किस ने लांच की भारत सरकार
लाभार्थी भारत के नागरिक
उद्देश्य गौ धन का उपयोग करना
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2021

जैसा कि आप जानते हैं कि इस योजना की शुरुआत 2018 में की गई थी जिसकी सहायता से किसानों से पशुओं के गोबर एवं ठोस अपशिष्ट पदार्थ जैसे कि भूसा एवं प्रत्यय आदि खरीदे जाएंगे एवं उन को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत 90 मीटर तन का एक प्लॉट स्थापित किया जाएगा जिसकी मदद से किसानों से गोबर खरीद के इस प्लॉट में पहुंचाया जाएगा। इस योजना को शुरू हुए 3 साल हो चुके हैं परंतु योजना के अंतर्गत वर्ष दर योजना के काम में बढ़ोतरी आई है एवं इससे कई किसानों ने आर्थिक सहायता प्राप्त की है। इस योजना के अंतर्गत जो भी गोबर एवं ठोस अपशिष्ट पदार्थ किसानों से खरीदा जाएगा उसका इस्तेमाल करके बनाया जाएगा। गोबर धन योजना राज्य सरकारों द्वारा मुख्य सचिव की अध्यक्षता में की जा रही है इसके लिए राज्य सरकार द्वारा योजना के संबंध में समिति भी गठित की जा रही है। योजना के अंतर्गत गोबर को जिले के डीएम की अध्यक्षता में बेचा जाएगा। गोबर धन योजना 2021 का संचालन पंचायत राज निदेशालय द्वारा किया जा रहा है एवं योजना के अंतर्गत पंचायती राज इस योजना से संबंधित नोडल एजेंसी है। योजना के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी एवं इस योजना के माध्यम से बनाई गई बायोगैस को खाना पकाने एवं लाइटिंग के इस्तेमाल के लिए ईंधन के रूप में उपयोग में लाया जाएगा एवं योजना की मदद से स्वच्छता बनाए रखने का लक्ष्य रखा गया है|

गोबर धन योजना स्टैटिसटिक्स

Application/DPR Received 341
Application/DPR Awaiting Approval 198
Number of villages where application/DPR Received 320
Application/DPR Approved 118
Application/DPR Approved by block 170
Application/DPR Rejected 14
Number of STAC Formed 23
Total Number of Technical Agency Empanelled 130

GOBAR- Dhan Yojana 2021 का उद्देश्य

जैसा कि हम सब भली भांति जानते हैं की स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश भर में स्वच्छता से छुटकारा पाने के लिए कई सारी योजनाओं को शुरू किया जा रहा है। गोबर धन योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य एवं स्वच्छता को बढ़ावा देना है । इस योजना के जरिए ग्रामीण क्षेत्र को स्वच्छ बनाया जाएगा। योजना के अंतर्गत खेती के लिए जैविक खाद बायोगैस का उत्पादन करने के लिए कई जिलों में क्लस्टर्स बनाए जाएंगे जिसकी मदद से इकट्ठा हुए गोबर को वहां पहुंचाया जाएगा। इस योजना के तहत किसानों के पशुओं का गोबर खरीद के उनको बायोगैस में परिवर्तित किया जाएगा एवं स्वच्छ जल गैस इंजन का उत्पाद किया जाएगा जो कि ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को ईंधन के रूप में प्रदान किया जाएगा। योजना के माध्यम से किसानों की आय दोगुनी होगी एवं योजना की मदद से ग्रामीण क्षेत्रों को आत्मनिर्भर बनाया जाएगा।

गोबर धन योजना के दस्तावेज़ 

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ईमेल आईडी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

योजना का लाभ

  • इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में ठोस उपस्थित पदार्थ किसानों से खरीदा जाएगा एवं इससे कंपोस्ट एवं बायोगैस बनाने के लिए उपयोग में लाया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ देशभर के ग्रामीण क्षेत्र के किसान उठा सकते हैं।
  • इस योजना की मदद से देशभर में प्रदूषण कम होगा एवं किसानों की आय में बढ़ोतरी की जाएगी।
  • इस योजना की मदद से किसानों से उनके पशुओं का गोबर एवं खेतों में ठोस अपशिष्ट पदार्थ को खरीदा जाएगा एवं उनको उचित मूल्य प्रदान किया जाएगा।
  • योजना से संबंधित किसानों की आय दोगुनी करने के लिए इस योजना का ऑनलाइन पोर्टल शुरू किया गया है जिसकी मदद से किसान अपने आपको पोर्टल से पंजीकृत करके योजना का लाभ उठा सकते हैं।

गोबर धन योजना ऑनलाइन आवेदन –

Gobar Dhan Yojana Registration Application Form

यदि आप ग्रामीण क्षेत्रों से संबंध रखते हैं एवं गोबर धन योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो हमारे द्वारा प्रदान किए गए टिप्स को फॉलो करें एवं योजना का ऑनलाइन आवेदन करें।

  • सबसे पहले आपको गोबर धन योजना की gobardhan portal पर जाना होगा ।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन के विकल्प को चुनना होगा।
  • रजिस्ट्रेशन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको एक एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा।
  • एप्लीकेशन फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे कि आपका नाम पता रजिस्ट्रेशन डिटेल आदि संबंधित जानकारी दर्ज करें।
  • कंफर्म करने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • सबमिट बटन क्लिक करने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा एवं रजिस्ट्रेशन संख्या नंबर आपको आपके अधिकारी मोबाइल नंबर पर प्राप्त हो जाएगा।
Share

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *