Bhavantar Bhugtan Yojana 2021 – भावांतर भुगतान योजना ऑनलाइन आवेदन

भावांतर भुगतान योजना की जानकारी: मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना को शुरू किया गया है जिसका नाम है भावांतर भुगतान योजना। यह योजना राज्य के किसानों को उनकी फसल की सही कीमत प्रदान करने के लिए शुरू की गई है। इस योजना के अंतर्गत मध्य प्रदेश राज्य सरकार सभी किसानों के खाते में बिक्री मूल्य एवं लाभकारी मूल्य का भुगतान करेगी। मध्य प्रदेश राज्य में यदि किसी किसान की फसल का दाम न्यूनतम समर्थन मूल्य की तुलना में कम मिल रहा है तो वह अपनी खरीफ फसलों को बाजार मैं बेचने के बजाय सरकार को बेचकर अपना नुकसान को कवर कर सकते हैं। कई बार ऐसा होता है कि किसान मंडी में अपनी फसल को बेचने जाते हैं पर उनको न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम दाम में बेचना पड़ता है। इस कारण वर्ष उनका आर्थिक रूप से बहुत नुकसान होता है जिसकी भरपाई करना उनके लिए मुश्किल हो जाता है।

bhavantar bhugtan yojana launch date: यही मुख्य कारण है कि सरकार ने भावांतर भुगतान योजना को शुरू किया गया है जिसके द्वारा ऑनलाइन माध्यम से अपनी फसल का मूल्य अपने बैंक खाते में प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको योजना का ऑनलाइन आवेदन करना पड़ेगा। आज के इस आर्टिकल में हम आपको इस योजना से संबंधित सभी जानकारी जैसे योजना से जुड़े आवेदन प्रक्रिया, पात्रता आदि से संबंधित जानकारी प्रदान करेंगे तो निवेदन करेंगे पोस्ट को अंत तक पड़े जिससे कि आपको भावांतर भुगतान योजना के संबंध में सभी जानकारी प्राप्त हो सके।

bhavantar bhugtan yojana mp in hindi

bhavantar bhugtan yojana kya hai: यदि आप भावांतर भुगतान योजना के तहत लाभ उठाना चाहते हैं और इस योजना का हिस्सा बनना चाहते हैं तो आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इस योजना के अंतर्गत उपार्जन पोर्टल के माध्यम से करीब 5 सालों में 118 लाख किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य पर निशुल्क पंजीकृत हुए हैं एवं सरकार द्वारा तय की गई मूल्य पर अपनी फसल भेज पाए हैं। योजना के मुताबिक 64 लाख किसान से करीब 2415 लाख एमपी अनाज खरीदा गया है जिसका कुल मूल्य 60 हजार करोड़ है जो कि सरकार द्वारा किसानों को प्रदान की गई राशि है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी किसानों के बैंक खाते में सीधा फसल का मूल्य ट्रांसफर कर दिया जाएगा इसलिए यह आवश्यक है कि आपके पास खुद का बैंक खाता होना अनिवार्य है एवं बैंक खाते से आधार कार्ड लिंक होना भी आवश्यक है। इस योजना के तहत सरकार उपार्जन पोर्टल के माध्यम से मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवा रही है जो भी इस योजना का हिस्सा बनना चाहते हैं उपार्जन पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं

भावांतर भुगतान योजना के फायदे

  • योजना के अंतर्गत खरीफ फसलों के मूल्य पर आने वाली पतले हैं दान, उड़द, तुवर और मुंह।
  • यह योजना मध्य प्रदेश राज्य में कपास गेहूं, बाजरा, उड़द, चावल, सोयाबीन, मूंगफली, तेल राम, तेल मक्का एवं तूर दाल सहित अन्य तेरा फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेचने के लिए बहुत ही लाभदायक है।

भावांतर भुगतान योजना मध्य प्रदेश की विशेषताएं

  • मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 1 अक्टूबर 2019 में शुरू किया गया था।
  • इस योजना को शुरू करने का मुख्य कारण लगातार गिर रही कृषि फसलों की कीमतों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू करना है।
  • इस योजना को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए शुरू किया गया है। योजना के तहत मंडी में बिक्री संकट की समस्या में किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है।
  • जैसा कि हम जानते हैं कि इस वर्ष भी बहुत से फसलों की बिक्री में संकट बना हुआ है जिसके कारण वर्ष किसानों को उनकी फसलों का सही मूल्य नहीं प्राप्त हो पा रहा है।
  • इसी कारण वर्ष सरकार ने खरीफ फसलों के लिए इस योजना को शुरू किया गया है जिसकी ऑनलाइन बुकिंग 28 जुलाई से शुरू हो गई थी।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को हो रही समस्या एवं उनके द्वारा की जा रही आत्महत्या को रोकने के लिए एवं उनकी आय को बढ़ाने के लिए इस योजना को मध्य प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया है जिससे राज्य के किसानों की परेशानी हल हो सके।

bhavantar bhugtan yojana का लाभ

  • इस योजना का लाभ मध्यप्रदेश राज्य के किसान उठा सकते हैं।
  • योजना के तहत किसानों के पास खुद का बैंक खाता होना अनिवार्य है जिसमें उनका बिक्री मूल्य एवं लाभकारी मूल्य भुगतान करा जाएगा।
  • उन्हें किसी भी प्रकार का वित्तीय घाटा नहीं झेलना पड़ेगा। इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार उन सभी किसानों को कीमत घाटे का भुगतान करेगी जिन्होंने अपने न्यूनतम समर्थन मूल्य से कम दाम पर अपनी फसलों को बेचा है और नुकसान झेला है।
  • इस योजना के तहत राज्य के किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए इस योजना को सुचारू रूप से चलाया जा रहा है जिससे किसानों की आर्थिक समस्या खत्म हो सके और उनकी आय दोगुनी हो सके।

crops under bhavantar bhugtan yojana

खरीफ की फसल 2021 के समर्थन मूल्य सूची

  • सोयाबीन – 3,399 रुपए प्रति क्विंटल
  • मक्का – 1,700 रुपए प्रति क्विंटल
  • धान – 1750 रुपए प्रति क्विंटल
  • धान ग्रेड ए – 1770 रुपए प्रति क्विंटल
  • ज्वार हाईब्रिड – 2430 रुपए प्रति क्विंटल
  • ज्वार मालडंडी – 2450 रुपए प्रति क्विंटल
  • बाजरा – 1950 रुपए प्रति क्विंटल
  • अरहर – 5675 रुपए प्रति क्विंटल
  • कपास मध्यम रेसा – 5150 रुपए प्रति क्विंटल
  • कपास लंबा रेसा – 5450 रुपए प्रति क्विंटल
  • तुअर – 5675 रुपए प्रति क्विंटल
  • उड़द – 5,600 रुपए प्रति क्विंटल
  • मूँग- 6,975 रुपए प्रति क्विंटल
  • मूँगफली – 4,890 रुपए प्रति क्विंटल
  • तिल – 5,675 रुपए प्रति क्विंटल
  • रामतिल – 5,877 रुपए प्रति क्विंटल

रबी की फसल 2021 के समर्थन मूल्य सूची

  • लहसुन – 3200 रुपए प्रति क्विंटल (अनुमानित)
  • चना – 4,400 रुपए प्रति क्विंटल
  • मसूर – 4,250 रुपए प्रति क्विंटल
  • सरसों – 4,000 रुपए प्रति क्विंटल
  • प्याज – 8 रुपए प्रति किलो (अनुमानित)
  • तुअर मॉडल रेट = 3860 रु/ कुंतल (1 से 30 अप्रैल 2018 के लिए )
  • गेहूं का समर्थन मूल्य =  2000 रुपए/ क्विंटल

bhavantar bhugtan yojana registration कैसे करें

जो भी राज्य के इच्छुक लाभार्थी इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं वह नीचे दी गई प्रक्रिया को स्टेप बाय स्टेप बड़े एवं उसके माध्यम से वह ऑनलाइन ई उपार्जन पोर्टल पर योजना से पंजीकृत हो सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको उपार्जन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद होम पेज पर आपको खरीफ 2019 2020 के विकल्प को चुनना होगा।
  • जैसी आप यह विकल्प चुनेंगे आपके होम स्क्रीन पर नया पेज खुलेगा जिसमें आपको खरीफ उपार्जन वर्ष 2019 हेतु किसान पंजीकरण के विकल्प को चुनना होगा।
  • विकल्प को चुनने के बाद आपके सामने एक दूसरा पेज खुल जाएगा जिसमें नीचे पूछी गई जानकारी जैसे कि आपका नाम आधार नंबर एवं कैप्चा कोड भरना होगा और फिर पंजीकृत करें के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल जाएगा।
  • पंजीकृत फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी को भरें एवं सबमिट बटन पर क्लिक करें।
Share

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *