मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2021 – @abhyuday.up.gov.in

भारत एक ऐसा देश है जहां पर बहुत से गरीब वर्ग से संबंध रखने वाले विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर पाने में असमर्थ रहते हैं।  bऐसे में उत्तरप्रदेश सरकार ने राज्य के छात्र छात्राओं के लिए एक महत्वपूर्ण योजना को लांच किया जिसकी मदद से वे सभी छात्रों की आर्थिक रूप से कमजोर है और शिक्षा देने में असमर्थ है वह इस अभ्युदय योजना का लाभ उठाकर मुफ्त में शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। ऐसे सभी छात्र जो कि उत्तर प्रदेश राज्य में रहते हैं एवं किसी भी कोचिंग या विद्यालय में शिक्षा प्राप्त करने में असमर्थ है इस योजना की मदद से शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं। योजना के माध्यम से हम आपको मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना की जानकारी देंगे जिसकी वजह से जान पाएंगे कि अभ्युदय योजना क्या है एवं इसके लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, आवेदन, प्रक्रिया एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज आदि। यदि आप इस योजना के बारे में जानकारी चाहते हैं तो निवेदन है कि इस पोस्ट को एंड तक अपने आप को इस योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी हैं।

up abhyudaya free coaching scheme

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के स्थापना दिवस के उपलक्ष में संबंधित आईएएस आईपीएस एनडीए पीसीएस सीडीएस नीट एवं से संबंधित परीक्षाओं की तैयारी के लिए इस योजना को शुरू किया है जिसकी मदद से सभी गरीब रेखा से नीचे आने वाले छात्रों की खुद की आज से शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते एवं कोचिंग नहीं जा पाते तो इस योजना के पात्र बन के मुफ्त में प्रतिद्वंदी परीक्षाओं की तैयारी कर सकते हैं। छात्रों को निशुल्क शिक्षा प्रदान की जाएगी जो की कोचिंग के माध्यम से होगी जिस के संबंध में इन सभी कॉम्पिटेटिव परीक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी। यदि आप परीक्षाओं के लिए शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं एवं अपनी आर्थिक स्थिति के कारण नहीं कर पाते हैं तो आप अभ्युदय योजना के आवेदन से इस इच्छा को पूरा कर सकते हैं। यूपी मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना का शिलान्यास उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा किया गया था। इस योजना की सहायता से विद्यार्थी ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल भी प्राप्त कर सकते हैं एवं ऑफलाइन कक्षाओं को ग्रहण भी कर सकते हैं

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना अपडेट

जैसे की हम सब भली भांति जानते हैं कि उत्तर प्रदेश में प्रदेश का 71 वा स्थापना दिवस मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा मनाया गया था जहां पर इस योजना की शुरुआत की गई थी। इस योजना के तहत छात्र जोकि से संबंधित के लिए शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं अपनी आर्थिक स्थिति के चक्कर में नहीं कर पाते हैं इस योजना के माध्यम से मुफ्त में कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के तहत वरिष्ठ अधिकारियों के द्वारा छात्रों को मार्गदर्शन प्रदान किया जाएगा। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री ने यह घोषणा की थी कि इस योजना के तहत कोचिंग क्लासेस बसंत पंचमी के दिन से शुरू की जाएंगी। अभ्युदय योजना के अंतर्गत कोचिंग के अंदर कमिश्नर द्वारा विद्यार्थियों को फिजिक्स एवं डीएम द्वारा इतिहास पढ़ाया जाएगा एवं इसी के साथ-साथ कई और उच्च अधिकारी भी इस योजना का हिस्सा होंगे जो कि छात्रों को शिक्षा प्रदान करेंगे। जानकारी के अनुसार छात्रों को माध्यमिक प्राइवेट कोचिंग में उत्कृष्ट शिक्षा भी कोचिंग द्वारा प्रदान की जाएगी।

शिक्षा बरेली के जेआईसी के स्कूल समय के बाद प्रारंभ की जाएगी। योजना के अंतर्गत कोचिंग के लिए स्मार्ट कक्षाओं का भी प्रयोग किया जाएगा जिससे विद्यार्थियों को शिक्षा लेने में आसानी हो 4 ग्राम सभी छात्र छात्राओं को क्वेश्चन बैंक एवं ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल भी प्रदान किया जाएगा। इसके लिए शिक्षकों को तैयार करने की जिम्मेदारी डॉ प्रताप कुमार को मुख्यमंत्री द्वारा दी गई है। उनके द्वारा ही शिक्षकों का पैनल भी तैयार किया जाएगा जो कि छात्रों को शिक्षा प्रदान करेंगे एवं इन चैनलों में सिर्फ सर्वश्रेष्ठ शिक्षकों को ही नियुक्त किया जाएगा

अभ्युदय योजना रजिस्ट्रेशन के मुख्य चिन्ह

इस अभ्युदय योजना के अनुसार सभी स्टडी मटेरियल एवं अन्य टूल किट को प्रदान करने की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश प्रशासन एवं संबंधित विभाग को सौंपी गई है। योजना के अनुसार मंडल स्तर पर भी प्रशिक्षण केंद्रों के संचालन के संबंध निगरानी सरकार द्वारा ही की जाएगी। योजना के तहत अगर किसी छात्र ने प्रारंभिक परीक्षा पास कर ली है तो उसको भी योजना के अंतर्गत मुख्य परीक्षा के लिए तैयार करवाया जाएगा। योजना के तहत सभी क्वेश्चन बैंक एवं स्टडी मैटेरियल वेबसाइट द्वारा प्रदान किया जाएगा एवं मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना की मदद से आप घर बैठे ही शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको फीस भरने की भी कोई जरूरत नहीं है यह शिक्षा आपको मुफ्त में राज्य सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी। इस चरण में 18 मंडल मुख्यालयों को शामिल किया जाएगा एवं 18 मुख्य मंडल में कोचिंग सेंटर सरकार द्वारा खोला जाएगा। यह सभी कोचिंग सेंटर विद्यालय एवं महाविद्यालयों के अंदर संचालित किए जाएंगे।

abhyuday.up.gov.in प्लेटफार्म

जानकारी के अनुसार हर साल प्रदेश में 4 से 5,00,000 छात्र यूपीएससी एवं विभिन्न अन्य राज्य परीक्षाओं जैसे नीट आदि परीक्षाओं में शामिल होते हैं। इन सभी परीक्षाओं में यादव सर बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर होते हैं। इस योजना को इसी कारण से शुरू किया गया है जिसकी मदद से इन सभी आर्थिक वर्ग से कमजोर छात्रों को मुफ्त में शिक्षा प्रदान की जा सके। इसी वजह से यह योजना राज्य में शिक्षा प्रदान करने के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण साबित होगी। योजना के अंतर्गत एक ही प्लेटफार्म भी तैयार किया जाएगा जिसके अंदर छात्रों को सभी स्टडी मैटेरियल एवं क्वेश्चन बैंक भी प्रदान किए जाएंगे। एस ई लर्निंग पोर्टल के द्वारा छात्रों को विभिन्न उच्च अधिकारियों द्वारा वीडियो के माध्यम से शिक्षा प्रदान की जाएगी। इस प्लेटफार्म की मदद से सरकार द्वारा छात्रों को लाइव दर्शन तथा सेमिनार भी आयोजित किए जाएंगे। इसकी मदद से छात्र अपने जो भी प्रश्न हैं उनका उत्तर प्राप्त कर पाएंगे एवं इसके अंतर्गत विद्यार्थी कोचिंग सेंटर में उपलब्ध होने वाले साथ-साथ कर बैठ कर भी कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं।

योजना का उद्देश्य

योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में होने वाली सरकारी परीक्षा जैसे आई एस आई पी एस पी एस एस एन डी ए एवं नीव जैसी प्रतियोगिताओं के लिए छात्रों को निशुल्क शिक्षा प्रदान की जा सके एवं उन्हें शिक्षा के लिए तैयार किया जा सके| योजना के माध्यम से छात्रों की कमजोरी के कारण इन परीक्षाओं में हिस्सा नहीं ले आते तथा कोचिंग सेंटर की फीस नहीं दे पाते उन्हें छात्रों को इस योजना के अंतर्गत निशुल्क कोचिंग प्रदान की जाएगी। योजना के अंतर्गत छात्रों को किसी दूसरे राज्य में जाने की आवश्यकता नहीं है वह उत्तर प्रदेश में रहकर ही कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं। यही नहीं वह अपने राज्य एवं अपने जिले में रहकर कोचिंग प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना की मदद से छात्रों को आगे बढ़ने में सहायता प्राप्त होगी एवं उन्हें अच्छी से अच्छी शिक्षा की प्राप्ति होगी जो कि सरकार द्वारा बिल्कुल निशुल्क प्रदान की जाएगी।

अभ्युदय योजना रजिस्ट्रेशन की विशेषताएं

  • इस योजना का शिलान्यास उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर किया गया था।
  • योजना के तहत छात्र-छात्राएं जोकि सरकारी प्रतियोगिता जैसे आईएएस पीसीएस नीट जैसी उज्जैन प्रतियोगिता वह हिस्सा लेना चाहते हैं उन्हें निशुल्क कोचिंग प्रदान होगी।
  • वे सभी छात्र छात्राएं जो कि आर्थिक रूप से कमजोर है एवं खुद की सहायता से किसी भी कोचिंग में शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते वह इस योजना का लाभ लेकर निशुल्क कोचिंग में शिक्षा ले पाएंगे।
  • इस योजना के तहत एवं क्वेश्चन बैंक भी उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • इस योजना के तहत सभी कार्य मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में किए जाएंगे। इस योजना को बसंत पंचमी वाले दिन प्रारंभ किया गया था।
  • योजना के अंतर्गत छात्र को ऑनलाइन स्टडी मैटेरियल भी प्रदान किया जाएगा साथ ही साथ में उनको ऑफलाइन कक्षाएं भी दी जाएंगी।
  • मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के तहत केवल कोचिंग नहीं बल्कि सभी छात्रों को मार्गदर्शन दिया जाएगा एवं मार्गदर्शन विभिन्न उच्च अफसरों द्वारा प्रदान किया जाएगा।

abhyudaya yojana registration – योजना का आवेदन कैसे करें

mukhyamantri abhyudaya yojana online registration की जानकारी के लिए नीचे पढे|
  • इसके लिए सबसे पहले आपको अभ्युदय योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद आपको होम पेज पर अप्लाई नाव के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको स्क्रीन पर एक नया पेज खुल जाएगा जिसमें आपसे कुछ जानकारी पूछेंगे जैसे कि आपका नाम एवं अन्य जानकारी जैसे आपका मोबाइल नंबर एवं पता।
  • सभी जानकारी सही दर्ज करें।
  • अब आपको मांगे गए दस्तावेजों को अपलोड करना होगा।
  • इसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होगा।
  • जैसी आप सबमिट बटन पर क्लिक कर देंगे तो आप इस योजना के अंदर आवेदन प्रक्रिया पूरी कर पाएंगे
Share

You may also like...

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *